IDBI फेडरल लाइफ इंश्योरेंस को खरीदने की होड़ में झुनझुनवाला भी शामिल

नई दिल्ली/मुंबई: दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला सहित कई कंपनियां IDBI फेडरल लाइफ इंश्योरेंस में नियंत्रण योग्य हिस्सेदारी खरीदने की होड़ में हैं. मामले से जुड़े सूत्रों की मानें तो इस फेहरिस्त में भारती एक्सा लाइफ इंश्योरेंस, कोटक लाइफ इंश्योरेंस, राकेश झुनझुनवाला की रेयर एंटरप्राइस और केदारा कैपिटल शामिल हैं.
संभावित खरीदारों को अपने प्रस्ताव 4 नवंबर तक जमा करने थे. सूत्रों के अनुसार, यह अंतिम तारीख थी. अभी सभी प्रस्ताव पर विचार हो रहा है, जिसके बाद चर्चा की शुरुआत होगी. बीते एक साल में कंपनी की वैल्यूएशन 50 फीसदी से अधिक घट चुकी है.

दरअसल, IDBI फेडरल लाइफ इंश्योरेंस को खरीदने वाली कंपनी को बीमा पॉलिसी बेचने के लिए IDBI बैंक की 2,000 शाखाओं का नेटवर्क नहीं मिलेगा. IDBI बैंक का नियंत्रण भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के पास है, जो खुद ही देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी है.

पिछले साल कंपनी के तीनों मालिकों ने इसकी वैल्यूएशन 6,000 करोड़ रुपये लगाई थी. इसके मालिकों में IDBI बैंक (48 फीसदी), फेडरल बैंक (26 फीसदी) और बेल्जियम की बीमा कंपनी एजियास (26 फीसदी) शामिल हैं.

एलआईसी ने पिछले साल सरकारी बैंक IDBI बैंक का अधिग्रहण किया था. इस अधिग्रहण के बाद IDBI फेडरल लाइफ इंश्योरेंस और एलआईसी के बीच अप्रत्यक्ष रस्साकशी शुरू हो गई थी.

मालिकाना हक बदल जाने के बाद IDBI बैंक विशेषतौर पर सिर्फ भारतीय जीवन बीमा निगम की पॉलिसी बेच रहा है. एलआईसी ने आईडीबीआई बैंक को किसी अन्य कंपनी की पॉलिसी बेचने की इजाजत नहीं दी है. एक सूत्र ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर कहा कि IDBI बैंक का सपोर्ट खत्म होने पर बीमा कंपनी की बिक्री औंधे मुंह गिरेगी.

एजियास ने हाल ही में रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस में 49 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदी है. कोटक लाइफ इंश्योरेंस, रेयर एंटरप्राइसेज और केदारा कैपिटल ने ईटी द्वारा भेजे गई ई-मेल का जवाब नहीं भेजा.

भले आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस को खरीदने वाली कंपनी को IDBI बैंक का नेटवर्क नहीं मिलेगा. मगर उसे फेडरल बैंक का नेटवर्क जरूर हासिल होगा. फेडरल बैंक इस बीमा कंपनी में बना रहेगा. IDBI फेडरल लाइफ इंश्योरेंस की वैल्यू 1,900 करोड़ रुपये बताई जा रही है.

वित्त वर्ष 2018-19 में बीमा कंपनी का नेट प्रॉफिट 133 करोड़ रुपये था. इसका कुल प्रीमियम 8 फीसदी बढ़ा था. IDBI बैंक की पॉलिसी की बिक्री में हिस्सेदारी 50 फीसदी थी, जबकि फेडरल बैंक का 25 फीसदी योगदान था. पिछले साल कंपनी ने पहली दफा 10 फीसदी डिविडेंड का ऐलान किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *