सेंसेक्स 807 अंक फिसला, जानिए गिरावट की बड़ी वजहें

नई दिल्ली: सप्ताह के पहले दिन घरेलू शेयर बाजार बुरी तरह फिसले. घरेलू और वैश्विक मसलों ने बाजार पर दबाव बनाए. दलाल पथ पर ऐसी बिकवाली हावी हुई कि तेजड़ियों को बचने का कोई मौका नहीं मिला.

बीएसई सेंसेक्स 807 अंक या 1.96 फीसदी का गोता लगातकर 40,363 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स 242 अंक या 2.01 फीसदी की कमजोरी के साथ 11,839 पर आ गया. बीएसई मिडकैप इंडेक्स और स्मॉलकैप इंडेक्स ने भी डेढ़-डेढ़ फीसदी तक की गिरावट दर्ज की.

जानिए किन वजहों से बाजार में मचा हाहाकार:

1. कोरोना वायरस का डर: कोरोना वायरस का संक्रमण पूरी दुनिया में फैलता दिख रहा है. इटली में इससे कथित रूप से तीन और दक्षिण कोरिया में सात लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में इस जानलेवा बीमारी से 80,000 लोग संक्रमित हैं.

2. कमजोर वैश्विक संकेत: एशियाई बाजारों पर बिकवाली हावी रही. हांगकांग का हेंगसेंग, जापान का निक्केई और शंघाई कंपोजिट ने 1.5 फीसदी तक का गोता लगाया है.

3. सुरक्षित निवेश की तलाश: निवेशक जोखिम भरे निवेश के विकल्पों से निकल कर सोने और डॉलर जैसी सुरक्षित जगहों पर निवेश कर रहे हैं. फरवरी में सोने का भाव 2 फीसदी तक चढ़ा है. वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था की ग्रोथ को लेकर चिंताएं मंडरा रही हैं.

4. विकास दर के आंकड़े: बाजार को अगले सप्ताह पेश होने वाले विकास दर (जीडीपी) के आंकड़ों का इंतजार है. आर्थिक शोध से जुड़ी एक संस्था के अनुसार, विकास दर 4.9 फीसदी तक लुढ़क सकती है. इससे पहले राष्ट्रीय सांख्यिकी दफ्तर ने 5 फीसदी की विकास दर का अनुमान जताया था.

5. मेटल शेयर में बिकवाली: मेटल शेयरों में 10 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई. कमोडिटी शेयरों के मामले में डर बढ़ रहा है. इंडेक्स पर सिर्फ एक ही शेयर ने तेजी दर्ज की. मेटल शेयरों में चीन की भूमिका काफी अहम होती है.

सोमवार को निफ्टी 50 इंडेक्स पर जेएसडब्ल्यू स्टील के शेयरों ने 7.5 फीसदी तक का गोता लगाया. इसके अलावा, वेदांता, टाटा स्टील, हिंडाल्को, टाटा मोटर्स, ओएनजीसी, आयशर मोटर्स, भारती इंफ्राटेल, मारुति सुजुकी और ग्रासिम के शेयरों ने 4 से 7 फीसदी तक फिसले.

कई सेक्टर्स के सूचकांकों ने लाल निशान के साथ सत्र का अंत किया. मेटल इंडेक्स 5.5 फीसदी तक फिसले. ऑटो इंडेक्स साढ़े तीन फीसदी और फार्मा इंडेक्स तीन फीसदी तक टूटा. सरकारी बैंक, रियल्टी और मीडिया इंडेक्स ने दो से तीन फीसदी तक का गोता लगाया.

मेटल इंडेक्स पर जिंदल स्टील ने 10 फीसदी तक का गोता लगाया. फार्मा इंडेक्स पर अरबिंदो फार्मा के शेयरों ने 16 फीसदी टूटे. सभी सरकारी बैंकों ने निराश किया. ऑटो इंडेक्स पर सिर्फ अशोक लेलैंड के शेयर चढ़े. मीडिया इंडेक्स टीवी टुडे और रियल्टी इंडेक्स पर इंडियाबुल्स रीयल एस्टेट सबसे अधिक फिसले.

सोमवार के सत्र के दौरान एनएसई पर 36 कंपनियों के शेयरों ने अपने 52 सप्ताह का उच्चतम स्तर हासिल किया. इसके उलट कुल 117 कंपनियों के शेयर अपने 52-सप्ताह के न्यूनतम स्तर तक फिसले.

निफ्टी 50 इंडेक्स पर सभी 50 शेयर लाल निशान के साथ बंद हुए. इसी तर्ज पर आगे बढ़ते हुए सेंसेक्स पर सभी 30 शेयरों ने निराश किया. बीएसई पर 747 शेयरों ने तेजी और 1,771 शेयरों ने कमजोरी के साथ सत्र का अंत किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: