बैंकिंग और वित्तीय शेयरों में कमजोरी से टूटा बाजार, सेंसेक्स 298 अंक गिरा

नई दिल्ली: गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार में कमजोरी दिखी. प्रमुख सूचकांक लाल निशान में बंद हुए. बैंकिंग और वित्तीय शेयरों में बिकवाली ने बाजार पर दबाव बढ़ा दिया. बाजार की नजरें अब कंपनियों के दूसरी तिमाही के नतीजों पर हैं.

बीएसई सेंसेक्स 298 अंक या 0.78 फीसदी गिरकर 37,880 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स 79 अंक या 0.70 फीसदी की कमजोरी के साथ 11,235 तक लुढ़क गया. मिडकैप इंडेक्स ने एक फीसदी और स्मॉलकैप इंडेक्स ने आधा फीसदी की गिरावट दर्ज की.

दूसरी तरफ, Bharti Airtel के शेयरों ने 4.5 फीसदी तक की छलांग लगाई. इसके बाद Grasim, Reliance Industries, Hindustan Unilever, HCL Technologies, Power Grid, Titan Company, Bharti Infratel, Sun Pharma और Wipro के शेयर सबसे ज्यादा चढ़ने में सफल रहे.

गुरुवार को किसी भी सेक्टर के इंडेक्स ने तेजी दर्ज नहीं की. निजी बैंक और सरकारी बैंक सूचकांकों ने तीन-तीन फीसदी तक का गोता लगाया. रियल्टी इंडेक्स ने दो फीसदी से अधिक की कमजोरी दर्ज की. वित्ते सेवा और मेटल इंडेक्स डेढ़ से दो फीसदी तक टूटे.

सभी सरकारी और निजी बैंकों ने निराश किया. निजी बैंकों में RBL बैंक और सरकारी बैंकों में यूनियन बैंक फिसड्डी साबित हुए. रियल्टी इंडेक्स पर इंडियाबुल्स रीयल एस्टेट ने 5 फीसदी तक का गोता लगाया. मेटल इंडेक्स पर सिर्फ तीन शेयर चढ़े. इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस की वैल्यू 20 फीसदी साफ हो गई.

गुरुवार के सत्र के दौरान एनएसई पर सिर्फ 15 कंपनियों के शेयरों ने अपने 52 सप्ताह का उच्चतम स्तर हासिल किया. इसके उलट 186 कंपनियों के शेयर अपने 52-सप्ताह के न्यूनतम स्तर तक फिसले.

निफ्टी 50 इंडेक्स पर 15 शेयर हरे, जबकि 35 शेयर लाल निशान के साथ बंद हुए. सेंसेक्स पर सिर्फ आठ शेयर चढ़े, जबकि शेष 22 ने निराश किया. बीएसई पर 881 शेयरों ने मजबूती के साथ और 1,564 शेयरों ने कमजोरी के साथ सत्र के कारोबार का अंत किया.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *