बजट के बाद 80% शेयरों ने रुलाया, बाकी 20% सातवें आसमान पर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 5 जुलाई को देश का आम बजट पेश किया था. इसके बाद घरेलू शेयर बाजार ने लगातार गिरावट ही दर्ज की है. बजट पेश होने के बाद से प्रमुख सूचकांकों ने 4 फीसदी से अधिक का गोता लगाया है, जो घरेलू शेयर बाजार की निराशा दर्शाता है.

दिलचस्प बात यह है कि बजट पेश होने के बाद से बीएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों में से 80 फीसदी शेयरों में गिरावट देखने को मिली है. हालांकि, खास बात यह है कि शेष 20 फीसदी शेयरों ने निवेशकों को 75 फीसदी से अधिक का रिटर्न दिया है.

आंकड़े बताते हैं कि कमाई कराने वाले ज्यादातर नाम केमिकल्स, रीयल एस्टेट, कंज्यूमर फूड्स, इंजीनियरिंग, आईटी, फार्मा और संकट से जूझ रहे NBFC सेक्टर के हैं. मानसून में देरी और कृषि दबाव के बावजूद कुछ कृषि आधारित शेयरों ने भी प्रभावित किया है.

सात से अधिक शेयरों ने 50 फीसदी से अधिक की तेजी दिखाई है. मंधना इंडस्ट्री के शेयरों ने 100 फीसदी से अधिक की छलांग लगाई है. इस शेयर ने 6.85 रुपये से 14.13 रुपये तक का सफर तय किया है. दूसरे नंबर पर वामा इंडस्ट्री के शेयरों ने 80 फीसदी तक की छलांग लगाई, मगर इस सप्ताह में यह शेयर फिसल गया.

इसके अलावा औद्योगिक गैस उत्पादक नेशनल ऑक्सीजन, टीवी केबल परिचालक GTPL हैथवे, इंफ्रा डेवलपर सुप्रीम इंफ्रास्ट्रक्चर, खाद्य तेल उत्पादक JVL एग्रो और IT सेवा प्रदाता अस्या इंफोसॉफ्ट के शेयरों ने 50 से 70 फीसद .. तक की तेजी दर्ज की.
केमिकल सेक्टर से अच्छा रिटर्न जिलेटिन प्रोडक्ट्स, स्पैन डिवर्जेंट, पॉलीलिंक पॉलिमर्स, केसर पेट्रोप्रोडक्ट्स, टाइटन बायो-टेक, वसुधरा रसायन जैसे नाम शामिल हैं. गौरतलब है कि चीन में पर्यावरण नियमों की सख्ती का फायदा भारतीय केमिकल कंपनियों को मिल रहा है और उनके शेयर चढ़ रहे हैं. रीयल एस्टेट की निराशाजनक स्थिति के बावजूद एल्डेको हाउसिंग और पीवीवी इंफ्रा के शेयरों ने भी 5 से 10 फीसदी तक की तेजी दर्ज की है. फार्मा सेक्टर से मंगलम ड्रग्स एंड ऑर्गेनिक्स, बाफना फार्मा और न्यूट्रप्लस इंडिया और सिस्केम जैसे शेयरों ने भी बजट के बाद निवेशकों को कमाई करके दी है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *