क्रूड ऑयल : मध्य-पूर्व में तनाव बढ़ने से कच्चा तेल उछला

मध्य-पूर्व में तनाव बढ़ने से कच्चा तेल उछल गया है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा है कि जल्द ही ईरान पर कई ‘महत्वपूर्ण’ लगाने की घोषणा की जा सकती है. इस वजह से ईरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ गया है. इसके चलते कच्चे तेल में तेजी आई है.

ब्रेंट फ्यूचर्स 25 सेंट या 0.4 फीसदी बढ़कर 65.45 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है. इसी तरह से वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड के भाव 37 सेंट या 0.6 फीसदी बढ़कर 57.80 डॉलर प्रति बैरल पर है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले हफ्ते कहा था कि उन्होंने ईरान के एक मानवरहित अमेरिकी ड्रोन को मार गिराने के जवाब में सैन्य कार्रवाई का फैसला किया था. हालांकि, कार्रवाई से 10 मिनट पहले उन्होंने अपना मन बदल दिया था. रविवार को ट्रंप ने कहा कि वह ईरान के साथ युद्ध नहीं चाहते.

बढ़ते तनाव के बीच, पिछले सप्ताह ब्रेंट लगभग 5 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ था. पांच सप्ताह में पहली बार कच्चे तेल में साप्ताहिक आधार पर तेजी आई. दिसंबर 2016 के बाद से पहली बार साप्ताहिक आधार लगभग 10 फीसदी उछल गया.

कमोडिटी बाजार के जानकारों का कहना है कि मध्य पूर्व में तनाव बढ़ने से कच्चे तेल की कीमतों में तेजी जारी है. मध्य-पूर्व में दुनियाभर में होने वाले कच्चे तेल के उत्पादन में करीब 20 फीसदी की हिस्सेदारी है.

उधर, ओपेक और अन्य उत्पादकों ने कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती पर चर्चा के लिए बैठक की तारीख पर सहमति जताई दी है. 1 जुलाई को ओपेक देश बैठक करेंगे, जबकि नॉन-ओपेक देश 2 जुलाई को चर्चा करेंगे.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *