क्रूड ऑयल प्राइस टुडे: ट्रेड वॉर के चलते कच्चे तेल में गिरावट

नई दिल्ली. शुक्रवार को कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई है. अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 18 सेंट या 0.30 फीसदी की गिरावट के साथ 57.20 प्रति बैरल पर आ गया. वहीं, अमेरिकी पश्चिम टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) वायदा 9 सेंट या 0.2 फीसदी गिरकर 52.45 प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था.
गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव दो फीसदी से अधिक उछल गया था. दुनिया के सबसे बड़े तेल निर्यातक सऊदी अरब ने कच्चे तेल की कीमतों में हालिया गिरावट पर चर्चा करने के लिए उत्पादक देशों को एक साथ बुलाया था. अप्रैल की ऊंचाई से कच्चे तेल की कीमतों में 20 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तरफ से चीनी सामानों पर 10 फीसदी टैरिफ लगाने की घोषणा और चीनी मुद्रा युआन में गिरावट के कारण दुनियाभर के सभी वित्तीय बाजारों में पिछले सप्ताह जोरदार गिरावट आई.

इस बीच, सऊदी अरब, समेत पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) अगस्त और सितंबर में अपने कच्चे तेल के निर्यात को प्रति दिन 70 लाख बैरल से नीचे बनाए रखने की योजना बना रहे हैं, ताकि बाजार में संतुलन वापस लाया जा सके. अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर फिर से बढ़ने से कच्चे तेल की कीमतों में लगातार दबाव देखने को मिला है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह 300 अरब डॉलर मूल्य के चीनी सामानों पर 10 फीसदी आयात शुल्क लगाएंगे. इसके जबाव में चीन ने इसी तरह के कदम उठाने की बात कही है. इससे संकेत मिलता है कि दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार युद्ध बढ़ेगा. ऐसा होने पर कच्चे तेल की मांग में कमी आ सकती है. बुधवार को जारी सरकारी आंकड़ों में कहा गया है कि बीते हफ्ते अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार 24 लाख बैरल बढ़ा है, जबकि बाजार का अनुमान 28 लाख बैरल घटने का था.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *