क्रूड ऑयल प्राइस टुडे: क्रूड की कीमतों में 10 फीसदी उछाल, सऊदी अरामको पर हमले का असर

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड के भाव 10 फीसदी तक बढ़ गए हैं. इसकी वजह सऊदी अरब की तेल कंपनी सऊदी अरामको पर हुआ हमला है. यह हमला पिछले हफ्ते शनिवार को हुआ था. सोमवार के एशियाई बाजारों में शुरुआती कारोबार में कीमतों में तेजी देखी गई. हमले की वजह से दुनिया के सबसे बड़े क्रूड उत्पादक देश सऊदी अरब की आपूर्ति करीब आधी रह गई है. सोमवार को शुरुआत में ब्रेंट क्रूड 11.77 फीसदी की तेजी के साथ 67. 31 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था. वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्लूटीआई) 10.68 फीसद चढ़कर 60.71 डॉलर पहुंच गया था.

हालांकि, सउदी अरब की कंपनी अरामको कच्चा तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमले के बाद बाजार में फैली घबराहट दूर करने की कोशिशें कर रही है. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिन नसीर ने बाजार को आश्वस्त करने की कोशिश करते हुए कहा, ”उत्पादन क्षमता को पुन: पुराने स्तर पर लाने के लिये काम चल रहा है.” ब्लूमबर्ग न्यूज ने भी खबर दी है कि अरामको को कुछ ही दिनों में अधिकांश परिचालन दोबारा शुरू कर लेने की उम्मीद है.

यह ड्रोन हमला ऐसे समय हुआ है जब कंपनी 100 अरब डॉलर की पूंजी जुटाने के लिये आईपीओ की तैयारी में है. विश्लेषकों का मानना है कि इस हमले से शायद ही आईपीओ की योजना टले, लेकिन कंपनी के मूल्यांकन पर इसका असर देखने को मिल सकता है.

सउदी इंक किताब के लेखक एलेन वाल्ड ने कहा, ”सउदी अरब के पास प्रचुर मात्रा में तेल का भंडार है, जिससे उपभोक्ताओं की मांग को पूरा किया जा सकता है. मुझे नहीं लगता कि इस कारण अरामको को किसी तरह का आर्थिक नुकसान होने वाला है.”

ऐसा माना जाता है कि सउदी अरब के पास कई भूमिगत भंडारण संयंत्र हैं जिनमें विभिन्न परिशोधित पेट्रोलियम उत्पादों के लाखों बैरल भंडारित हैं. संकट के समय इनका इस्तेमाल किया जा सकता है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: