क्रूड ऑयल प्राइस टुडे: कच्चे तेल में सीमित दायरे में कारोबार

नई दिल्ली: कच्चे तेल की कीमतों में मंगलवार को सीमित दायरे में कारोबार दिख रहा है. अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा मामूली तेजी के साथ 59.75 डॉलर प्रति बैरल के आसपास कारोबार कर रहा था. उधर, अमेरिकी पश्चिम टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) वायदा पिछले बंद से 6 सेंट गिरकर 56.15 डॉलर प्रति बैरल पर था. सोमवार को ब्रेंट क्रूड का भाव 1.88 फीसदी चढ़ गया था. डब्लूटीआई का भाव करीब 2.44 फीसदी चढ़ गया था.

अमेरिका ने कहा कि चीन की कंपनी हुआवे टेक्नोलॉजीज पर लगाई गई रोक के फैसले को फिलहाल 90 दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है. इससे दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार को लेकर जारी संघर्ष में थोड़ी नरमी आई है. अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर कंपनी पर रोक लगाने का फैसला किया गया था. दरअसल, अमेरिका को शक है कि हुवावे के उपकरणों के जरिए चीन जासूसी कर सकता है, जो सुरक्षा के लिहाज से एक बड़ा खतरा बन सकता है.

इसके पहले सोमवार को यमन के अलगाववादियों द्वारा सऊदी अरब के एक तेल क्षेत्र पर हमले से क्रूड के दाम चढ़े थे. पूर्वी सऊदी अरब के एक तेल क्षेत्र पर यमन के हूती विद्रोहियों के एक समूह द्वारा किए गए एक ड्रोन हमले से गैस संयंत्र में आग लग गई थी. इससे मध्य पूर्व में तनाव बढ़ गया था. हालांकि सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको ने कहा कि इस घटना से तेल उत्पादन प्रभावित नहीं हुआ था.

वहीं दूसरी ओर, पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) ने 2019 में वैश्विक तेल मांग में वृद्धि के अनुमान को 40,000 बैरल प्रति दिन घटाकर 11 लाख बैरल रोजाना कर दिया है. विश्लेषकों ने उम्मीद जताई है कि सऊदी अरब कच्चे तेल की सप्लाई घटा सकता है, क्योंकि सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको की दुनिया का सबसे बड़ा आईपीओ लाने की योजना है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *