क्रूड ऑयल प्राइस टुडे: कच्चे तेल में तेजी जारी, अमेरिका ने ईरान पर मढ़ा दोष

नई दिल्ली. ओमान की खाड़ी में पिछले हफ्ते दो तेल टैंकरों पर हुए हमलों के बाद कच्चे तेल की कीमतों में लगी आग थमने का नाम नहीं ले रही है. सोमवार को कच्चे तेल का वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 26 सेंट या 0.40 फीसदी बढ़कर 62.27 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. बीते गुरुवार को हुई इस घटना के बाद कच्चा तेल 4.5 फीसदी उछल गया था.

इसी तरह से अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड वायदा सोमवार को 17 सेंट या 0.3 फीसदी की मजबूती के साथ 52.68 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था.

ओमान की खाड़ी के रास्ते करीब 40 फीसदी तेल का आवागमन होता है. इस वजह से कच्चे तेल की सप्लाई पर असर पड़ने की संभावना जताई जा रही है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के अनुसार, मध्य-पूर्व में सुरक्षा लिए हम आवश्यक कार्रवाई करेंगे. पिछले सप्ताह टैंकरों पर हमले के बाद इस इलाके में तनाव बढ़ गया है.

पोम्पिओ ने कहा कि हमारा आकलन है कि हमलों के पीछे ईरान का हाथ है. इस बीच ईरान ने चेतावनी दी है कि अगर वह अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण अपना तेल नहीं बेच सकता है तो वह इस मार्ग (स्ट्रेट ऑफ होर्मुज) को अवरुद्ध कर देगा. ईरान पर अमेरिका ने प्रतिबंध लगा रखा है.

उधर, सऊदी ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फलीह ने कहा है कि ओपेक देश संभवत: जुलाई के पहले सप्ताह में मिलेंगे. उन्होंने उम्मीद जताई कि वह तेल उत्पादन में कटौती के समझौते पर पहुंच जाएंगे. गौरतलब है कि एक समझौते के तहत जब बाजार में कच्चे तेल की सप्लाई बढ़ी थी तो ओपेक और गैर-ओपेक देश रूस ने उत्पादन में 12 लाख बैरल रोजाना की कटौती का फैसला किया था. जून में यह अवधि समाप्त हो रही है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *