अमेरिका में भंडार घटने से कच्चे तेल में जोरदार तेजी

नई दिल्ली. बुधवार को कच्चे तेल की कीमतों में जोरदार तेजी आ गई. अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा का भाव 1.70 फीसदी की तेजी के साथ 65 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर कारोबार कर रहा था. इसी तरह से अमेरिकी कच्चा तेल यानी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (WTI) क्रूड वायदा भी 2 फीसदी की तेजी के साथ 59 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गया.
कमोडिटी बाजार के जानकारों का कहना है कि अमेरिकन पेट्रोलियम इंस्टीट्यूट (एपीआई) के आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार अनुमान से ज्यादा लुढ़क गया है. गैसोलीन की सप्लाई में भी कमी आई है.

आंकड़ों के मुताबिक, बीते हफ्ते अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार 50 लाख बैरल घटा है, जबकि एनालिस्ट्स की तरफ से भंडार 31 लाख बैरल घटने का अनुमान जताया गया था. अमेरिका में कच्चे तेल के स्टॉक के सरकारी आंकड़ें यानी ऊर्जा सूचना प्रशासन (ईआईए) के आधिकारिक आंकड़ें भारतीय समयानुसार आज रात में जारी होंगे.

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) की तरफ से कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती के चलते रूस जैसे बड़े उत्पादकों ने भी उत्पादन घटाया है. इससे इस साल कच्चे तेल के दोनों बेंचमार्क में तेजी आई है.

गौरतलब है कि ओपेक देश और गैर ओपेक देश रूस समेत कच्चे तेल का उत्पादन करने वाले देश 2017 से 12 लाख बैरल रोजाना उत्पादन में कटौती कर रहे हैं. जून में यह डेडलाइन खत्म हो रही थी, जिसे मार्च 2020 तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *